शब्बे बरात का त्योहार घर में ही रहकर मनाएं: मोहम्मद वारिस अली

Spread the love

 नगर मोहर्रम कमेटी के सचिव मोहम्मद वारिस अली ने मुस्लिम परिवारों से की गुज़ारिश
रोहतास। डेहरी नगर मुहर्रम कमेटी के सचिव एवं पत्रकार मोहम्मद वारिस अली ने शहर के तमाम मुस्लिम परिवारों से गुजारिश करते हुए कहा कि कोरोना महामारी की गिरफ्त में पूरा विश्व आ गया है संकट की घड़ी में आवाम के लोगों को संयम – धैर्य के साथ सरकार एवं प्रशासन के निर्देशों का पालन करना चाहिए सोशल डिस्टेंस बनाते हुए घरों में रहकर इसमें जीत मिल सकती है लॉक डाउन का सभी पालन करें तथा अपने त्यौहार को घर पर ही रह कर मनाएं कोरोना की काली अंधेरी रात के बाद सुबह भी होगी। दुनिया में फैले हुए बीमारी करोना संक्रमण से हमारा देश भी जूझ रहा है  माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र दास मोदी द्वारा  बार-बार निवेदन  किया जा रहा है आप देख रहे हैं कि हमारे देश में भी लोग मर रहे है तथा देश मैं प्रशासन, पुलिस ,चिकित्सक, सफाई कर्मी सारे लोग आपके लिए 24 घंटे लगे हुए हैं हमारे रोहतास जिले में भी जिला अधिकारी और पुलिस कप्तान हाथ जोड़कर निवेदन किए तथा अनुमंडल पदाधिकारी  लाल ज्योति नाथ सहदेव ए एसपी संजय कुमार एसडीपीओ थाना अध्यक्ष सुबोध कुमार प्रखंड विकास पदाधिकारी अरुण कुमार नगर परिषद चेयरमैन कार्यपालक पदाधिकारी सुशील कुमार के साथ पूरी सरकारी व्यवस्था जीवन रक्षा के लिए लगा हुआ है इसका नतीजा है कि हमारे जिले में आज तक संक्रमण का एक भी पॉजिटिव केस नहीं  मिला है  । तमाम पुलिस प्रशासन स्वास्थ्य कर्मी नप कर्मी को बधाई देता हूं और उनको भी बधाई देता हूं जो भूखे असहाय बेसहारों मजदूरों को आज घर- घर अन्नदाता के रूप में दो वक्त का भोजन देने का काम दिल से कर रहे है। आपका भी लॉक डाउन रहने का सहयोग चारों तरफ से मिल रहा है दूरी बनाए रखें सफाई के साथ रहे सेनीटाइज करते रहे और मार्क्स का भी प्रयोग करें आपके बीच कोई बाहरी व्यक्ति पहुंचा हुआ पाया जाए इसकी सूचना तत्काल प्रशासन को दें ताकि संक्रमण से बचाव किया जा सके। अनुमंडल प्रशासन द्वारा दिन-रात अनुरोध के बावजूद भी कुछ नौजवान युवकों द्वारा अपने-अपने गली मुहल्लों के नुक्कड़ पर भीड़ के रूप में इधर-उधर भटकते नजर आ रहे हैं इससे हम लोग शर्मिंदा है अभिभावक परिवार की चिंता में लॉक डाउन में भूखे  रह रहे हैं और आप जैसे होनहार नौजवान बच्चे हमारे इज्जत को नीलाम कर रहे हैं बेहद शर्म की बात है मुझे दिल से दुख है कुछ जगह मैंने नौजवानों को मना किया आप लोग अपने घर मे जाइए तो उनका आक्रोश मैं सहन नहीं कर सकता अब आपके लिए प्रशासन भी कमर कस चुका है आप घूमते नजर आएंगे डंडे भी  खाएंगे नहीं सुधरे तो अंदर भी जाएंगे आप नौजवानों के चलते हैं सबकी जान जोखिम में है । आप नहीं सुधरेंगे तो हम सुधारने का भी कोशिश करेंगे सभी वार्ड के वार्ड पार्षदों से भी अनुरोध है कि अपने वार्ड में अभिभावकों को अपना और सरकार का निर्देश पालन करने के लिए जरूर बता दें उनकी भी जवाबदेही है। मुझे जानकारी मिला के अस्पतालों में ताला बंद है और सरकारी अस्पताल में व्यवस्था नहीं है इसलिए प्रशासन से अनुरोध होगा कि स्वास्थ्य सेवा को आवश्यक समझते हुए चिकित्सकों से अनुरोध किया जाए कि वह क्लीनिक में मरीज पहुंचने पर आवश्य सेवा दे कम से कम दो चार ही अस्पताल खुले रहें। मुस्लिम परिवार से गुजारिश है कि 9 तारीख शब्बे ए बारात पर्व अपने घर में रहकर मना ए कब्रिस्तान पर जाने की कोई जरूरत नहीं है और ना ही मस्जिद जाना है हमने ठाना है लॉक डाउन का पर्व निभाना है कोरोना को भगाना है इसलिए आप घर में रहे जो इबादत करना है अपने देश के लिए परिवार के लिए पूर्वजों के लिए करते रहे नहीं मानेंगे तो पूर्वजों के जगह पर आप भी जल्द ही पहुंच जाएंगे इसे सावधानी और निर्देश दोनों समझे घर पर ही रहे। 

Spread the love

MediaDarshan

Read Previous

सांसद निधि को स्थगित किया जाने के फैसले को कारा काट सांसद ने सराह

Read Next

पंचायत में किया गया ब्लिंचिंग पाउडर का छिड़काव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *