फसल कटनी की बढी समस्या हो रहे किसान मायुस

Spread the love

गडहनी। खेतो मे फसल पक कर कटने को तैयार बैठे देख रहे कटनीहार की राह।ऐसे विकट परिस्थिति मे किसानों का दर्द इस वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से कम नही है।आशाओं की किरण डुबती नजर आ रही है मायुस किसान अपनी पीडा को ह्रदय मे छुपाये फिर रहे हैं।सालो की खेती खेत मे झडने के कगार पर है।ना ही मजदूर मिल रहे और ना ही कृषि यांत्रिककरण यंत्र ही जिससे कटाई कराई जा सके।कांग्रेस के प्रखण्ड अध्यक्ष सतेन्द्र सिंह कहते हैं कि किसानों के साथ कभी प्राकृतिक आपदा तो कभी वैश्विक महामारी तो कभी कुछ और संकटे आती रहती है फिर भी किसान हिम्मत नही हारते और अपने कर्तव्यों का पालन बाखूबी करते रहते है।किसानों की देन ही है कि हम सबको दो जुन की अनाज मिल रही है ऐसे मे हम इन्हें क्या सुबिधा दे पा रहें हैं।आज किसानों के सामने जो विकट परिस्थिति खडी है उसके लिए सरकार क्या ब्यवस्था कर रही है।कोरोना वायरस के कारण मजदूर नही मिल रहे फसल कटनी करने वाली गाडी हार्वेस्टर अभी तक नही आ पाये यह बडी समस्या नही तो और क्या है।किसानों की चिन्तायें लॉकडाउन मे बढती जा रही है।इस वैश्विक महामारी कोरोना से कोई मरे या ना मरे पर लॉकडाउन की लॉकिंग से किसान जीते जी मर रहे हैं।

Spread the love

Media Darshan

Read Previous

किसानों ने खुलकर दिहाड़ी व खेत मजदूरों के लिए चावल  दिया

Read Next

आग लगने से महिला झुलसी घर के समान राख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *