छात्रों के भविष्य के प्रति चिंतित  विन्यदा ने ऑनलाइन शुरू की पढ़ाई

Spread the love

        विद्यालय के वेबसाइट अथवा ई-मेल पर अभिभावक एवं छात्र ले सकते हैं परामर्श

 रोहतास। सुयोग्य पिता  के सुयोग्य  संतान को चरितार्थ करते हुए विन्यदा पब्लिक स्कूल बिक्रमगंज के निदेशक  विनय सिंह ने छात्र हित को ध्यान में रखते हुए शुरू किए ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था   विद्यालय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार विन्यदा पब्लिक स्कूल बिक्रमगंज के निदेशक को  लॉक डाउन लागू होने से छात्र हित की चिंता सताने लगी। विद्यालय के प्राचार्य राजीव कुमार से   छात्रों के पढ़ाई के प्रति विचार विमर्श किए । निदेशक के सुझावों को अमल में लाते हुए विद्यालय प्रचार्य राजीव कुमार ने  सभी शिक्षकों से ऑनलाइन  बैठक   किए ।ऑनलाइन बैठक में शिक्षकों से  मिले सुझाव को  बच्चों के उज्जवल भविष्य एवं पढ़ाई बाधित न हो । इसके लिए विद्यालय छात्रों को ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था करें।  उक्त सुझाव को अमल में लाते हुए प्राचार्य राजीव कुमार ने  जूम ऐप के माध्यम से बच्चों को लॉक डाउन में ऑनलाइन पढ़ाने की व्यवस्था की गई ।  जूम एप इंस्टॉल  होने पर विद्यार्थियों  अपने वर्ग शिक्षक  अथवा विषय शिक्षक  से फोन करने पर   ओटीपी नम्बर मिलेगी।  उक्त  जूम एप को अभिभावक अथवा  विद्यार्थी मोबाइल में इंस्टॉल कर निर्बाध पढ़ाई लॉक डाउन में कर सकते हैं। किसी प्रकार की असुविधा अथवा कठिनाई होने पर अभिभावक अथवा छात्र विद्यालय के  वेबसाईट या ईमेल पर सीधे संवाद कर परामर्श ले सकते हैं। ऐप के माध्यम से ऑनलाइन पढ़ाई की व्यवस्था शुरू होने से बच्चों की पढ़ाई बाधित नहीं होगी।  कोरोना वायरस से बचाव के लिए लगाए गए लोक डाउन में  छात्रों का समय निरर्थक बर्बाद  होने से बचेगा। पाठ्यक्रम प्रभावित नहीं होगी। ऑनलाइन जूम एप  के माध्यम से पढ़ाई होने से  विद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों का पाठ्यक्रम पीछे होने से बचाया जा सकता है। विद्यार्थियों में मानसिक  तनाव की समस्या उत्पन्न नहीं हो सकेगी। लॉक डाउन होने से विद्यालय संचालक के समक्ष आर्थिक संकट के साथ-साथ कई तरह की कठिनाइयां जन्म लेती दिख रही है। विद्यालय के निदेशक विनय कुमार को हमेशा छात्र हित की चिंता सताती रहती है।  लॉक डाउन में  वे  छात्रों के पाठ्यक्रम को पूरा करना चुनौती के रूप में ले रखा है।  जूम एप की  छात्रों एवं अभिभावकों में हो रही  सराहना ।अनुमंडल क्षेत्र के  गौरवान्वित करने के लिए योग्य पिता के  योग्य संतान ने सुव्यवस्थित  शिक्षण संस्थान की स्थापना कर अपनी कृति को अमर कर डालें । गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई होने से बच्चे  को काफी प्रफुल्लित एवं उत्साहित  रहने की बात बताई जाती है ।  नन्हे -नन्हे विद्यार्थियों द्वारा कबाड़ की  जुगाड़ से   यंत्रो का अविष्कार कर चुके है।बताते चलें कि विगत माह  विद्यालय की स्थापना समारोह पर पूर्व राज्यपाल एवं कुलपति ने विद्यालय की काफी सराहना एवं प्रशंसा कर डाली थी।


Spread the love

Media Darshan

Read Previous

गुमटी में लगी आग 20 हजार के संपत्ति राख

Read Next

महुआ नगर पंचायत के वार्ड-15 को लोगों ने किया सील

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *