कोरोना योद्धा” बनी जीविका दीदी ने जिला प्रशासन को कहा शुक्रिया

Spread the love

जिला प्रशासन की यह पहल, कई परिवारों के लिए बनी आजीविका का साधन

 बेतिया। कोरोना नामक बीमारी आज एक वैश्विक महामारी का रूप ले लिया है। लोग इससे बचाव के लिए तरह-तरह के उपाय की तलाश में हैं। लॉक डाउन के कारण लोगों का रोजगार छिन गया है। लोग घर में बैठ बचाव के उपाय ढूंढने में लगे हैं। ऐसे में 225 जीविका दीदी द्रारा दिन रात मेहनत कर इस महामारी से बचाव हेतु मास्क निर्माण का कार्य किया जा रहा है। अब तक कुल 70000 थ्री प्लाई मास्क का निर्माण कराया गया है, जिसे जिले के प्रशासनिक विभागों, स्वास्थ्य विभाग, मेडिकल कॉलेज तथा सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थानों में इसकी आपूर्ति की जा रही है। यह मास्क  न केवल इस रोग से लड़ने में सहायक हो रहा है, अपितु इस कठिन परिस्थिति में जीविका दीदीयों के लिए आजीविका का साधन भी बना हुआ है। इससे प्रतिदिन 250-300 रुपये की कमाई कर रहे है। इस संबंध में हिम्मत संकुल संघ की संगीता देवी, रेणु देवी, नीरा देवी बताती हैं कि आज जीविका के जुड़कर हम जैसी लाखों दीदीयों के जीवन स्तर में बदलाव आया है, समाज में एक नई पहचान मिली है। आकाश संकुल संघ के अध्यक्ष ललीता देवी का कहना है की जिला प्रशासन के भरोसे पर हमारे सेन्टर पर प्रतिदिन 1000 से 1200 मास्क तैयार किया जा रहा है। अन्नपूर्णा जीविका महिला संकुल  तथा नारी शक्ति संकुल संघ के अध्यक्ष क्रमशः गायत्री देवी तथा नंदा देवी का कहना है कि अब तक हम लोगों ने 10,000 से अधिक मास्क तैयार किया है, जिससे  हमारे संकुल संकुल ने लगभग 120000 रूपये की आमदनी हुई है। जागृति, हिमालय, उत्तम, भारत संकुल से जुड़ी ममता देवी, नसिंस खातून,पुष्पांजली देवी, दीदी बताती है कि जीविका के प्रखंड परियोजना प्रबंधक के देखरेख में हम स्वच्छता तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क निर्माण के कार्य में दिन रात लगे हुए है। हम लोगों के द्रारा  निर्मित मास्क का उपयोग प्रशासनिक पदाधिकारी, डॉक्टर एवं पंचायत के लोगों कर रहें यह जान हमसभी भाग्यशाली महसूस कर रही है। बताते चलें कि जीविका दीदियों की भूमिका शराब बंदी, बाल विवाह एवं दहेज उन्मूलन जैसी सामाजिक गतिविधियों में भी काफी सराहनीय रही है। इस संबंध में जिला परियोजना प्रबंधक अविनाश कुमार ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश के आलोक में जीविका दीदी द्रारा मास्क निर्माण का कार्य नौतन, मझौलिया, बगहा 1, बगहा 2, गौनाहा, लौरिया, बैरिया, चनपटिया एवं बेतिया सदर प्रखंडों में आरम्भ कराया गया है। जिले में अब तक कुल 70000 मास्क तैयार कर इसकी आपूर्ति स्वास्थ्य विभाग, प्रशासनिक विभाग, मेडिकल कॉलेज, पंचायती राज के प्रतिनिधि तथा जिले के अन्य संस्थानो को किया गया है। इन्होने बताया कि विषम परिस्थितियों में सेवा तथा रोजगार के अवसर पाकर जीविका दीदी अपने को भाग्यशाली महसूस कर रहीं है। इसके लिए जिला पदाधिकारी को दीदियों ने शुक्रिया कहा है।


Spread the love

Media Darshan

Read Previous

बैंक से ग्राहक केन्द्रों तक लॉकडाउन का उल्लंघन कर रहें ग्राहक, प्रशासन सुस्त

Read Next

लॉक डाउन 2.0 का दिख रहा असर, सड़कों पर वाहनों का चलना हुआ बंद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *