बेटे के लिए दवाई लेने गई माँ का सड़क हादसे में हुआ दर्दनाक मौत, बोले थाना अध्यक्ष राजीव कुमार लाल मामला हुआ दर्ज

Spread the love

 खगड़िया। बृहस्पतिवार के शाम में बेलदौर प्रखण्ड अन्तर्गत माली गाँव के श्यामदेव यादव की पत्नी उम्र लगभग 51 वर्ष माली से चौढ़ली अपने बीमार पुत्र का दवाई लेने जा रहे थे. प्राप्त सुचना अनुसार मृतक सुलेखा देवी का पुत्र नीतीश कुमार का  तबियत कुछ दिनों से खराब चल रहा था  उसी को लेकर उक्त महिला अपने नेहर चौढ़ली जा रहे थे जहां एक दिन रहने के बाद अगले दिन  बेगुसराय दवाई लेने के लिए जाते, लेकिन उपर वाले को कुछ और ही मंजूर था. जाने से  पहले ही रोड एक्सीडेंट में उनका दर्द नाक मौत हो गया. वह माली चौक से लगभग संध्या 5 बजे के आस पास अपने 23 बर्षीय एकलौते बिमार पुत्र के साथ उक्त महिला अपने मायके को जा रहे थे लेकिन रास्ते में वेलानौवाद के बालुखद्दा चुरा मील के समीप  संतुलन बिगड़ जाने से सामने से आ रही एक ट्क गाड़ी वाले सुलेखा देवी को झटका लगा दिया जिससे मोटरसाइकिल का संतुलन बिगड़ गया और उसपर सवार सभी ब्यक्ती रोड़ पर गिर गए और मौके पर ही उसकी मौत हो गई. जबकि मृत्तिका के एक बेटी और 23 बर्षीय एकलौता बेटा नीतीश कुमार सामने देखकर हतप्रभ हो गया. बेटे को भी हल्का चोटे आई तत्काल गाड़ी वाले गाड़ी लेकर सहरसा की तरफ भाग गये.लेकिन परिजनों को जानकारी देने के उपरांत गाँव वाले माली चौक पर गाड़ी का इंतजार करते रहे और गाड़ी जब समीप आया तो गाड़ी को सैकड़ों पब्लिक ने गाड़ी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया.वहीं परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है. वहीं मोके पर उपस्थित माली सरपंच गजेंद्र यादव, समिति प्रतिनिधि सचिदानंद यादव, नव जागृति शिक्षण संस्थान के डायरेक्टर ग्रीस रंजन यादव,  छात्र जाप के प्रदेश सचिव झलेन्दर यादव, भावी माली समिति प्रतिनिधि अजय यादव, पुर्व जिला परिषद प्रतिनिधि मिथलेश यादव,मनोज यादव, रंजीत यादव, संजीत यादव, सहित अन्य व्यक्ति ने प्रशासन से उचित मुआवजा देने की मांग कर रहे थे.वही बेलदौर सीओ अमित कुमार ने बताया की   प्रावधान के अनुसार उचित मुआवजा दिलवाने का प्रयास किया जाएगा वहीं बेलदौर थाना अध्यक्ष राजीव कुमार लाल ने बताया कि ट्रक सहित चालकों पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

Spread the love

Media Darshan

Read Previous

लॉकडाउन के 18 वें दिन भी भाजयुमो अध्यक्ष ने हरिद्वार में फंसे जरूरतमंद तीर्थयात्रियों  भोजन कराया

Read Next

खेतों में लगी आग से किसानों के सपने हुए राख

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *