कोरोना को लेकर सरकार के निर्देशों का हो पालन, गरीब परिवार की गर्भवती महिला एवं बच्चों तक पहुंचे सरकारी मदद:- हम

Spread the love

पटना ।   हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से०) के प्रदेश अध्यक्ष बैश्यन्त्री ने कहा कि कोरोना का अब तृतीय चरण बहुत जल्द प्रारंभ होने वाला है । इस स्थिति में ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। मैं खुद अपनी पार्टी की ओर से सभी से अपील करता हूं की वह लॉक डाउन के अंतर्गत अपने अपने घरों के अंदर रहे और लॉक डाउन का निर्देशों का पालन दृढ़ता पूर्वक करें।
       बैश्यन्त्री ने कहा कि खासकर देहाती क्षेत्रों में प्रत्येक पंचायत में मुखिया के द्वारा सैनिटाइजेशन का कार्य युद्ध स्तर पर प्रारंभ कराया जाए। सरकार इसके लिए मुखिया को पर्याप्त फंड मुहैया कराएं। भारत ने अभी हाडस्कीकोलोरीक्वीन् पूरे विश्व में उपलब्ध कराया है । यह दवाई कोरोना के इलाज के लिए कारगर साबित हो सकता है। भारत के इस पहल को विश्व के देशों ने सराहा है और धन्यवाद भी दिया है , अब लगता है कि भारत के पहल पर विश्व से कोरोना को खत्म किया जा सकता है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के इस पहल को हम सभी ने पसंद कियाहै। भविष्य में जब कभी भारत पर कोई विपत्ति आवे तो उसे विश्व समुदाय को भी आगे बढ़कर सहयोग प्रदान करने की जरूरत है। 
        बैश्यन्त्री ने कहा कि भारत में अभी पुनःलॉकडाउन लागू किया गया तो हम सरकार से अनुरोध करते हैं कि इस अवधि में सभी जरूरतमंद लोगों तक अनाज, अन्य खाद्य सामग्री एवं दवाइयां आपूर्ति कराने की चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था के साथ अस्पतालों की स्थिति सुदृढ़ की जाए और डॉक्टरों नर्सों के उपयोग मेे आने वाला गाउन एवं आवश्यक सामग्रियों पर ध्यान दिया जाए। उनके लिये जो आवश्य हो उसे मुहैया कराया जाए ।
       बैश्यन्त्री ने कहा कि डॉक्टर के सुरक्षा पर ही हमारी सुरक्षा निर्भर करती है । इसलिए सरकार उसके सुरक्षा में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दे। अस्पतालों में खासकर जो बड़े हस्पताल हैं जैसे ऐम्स इत्यादि इन जगहों पर मुफ्त में इलाज कराने की व्यवस्था किया जाए । ग्रामीण क्षेत्रों  के हॉस्पिटल हैं वहां भी साधन मुहैया कराया जाए। साफ सफाई पर भी सामूहिक रूप से प्रयास करने की आवश्यकता है। मैं प्रत्येक बिहार वासियों से अनुरोध करता हूं कि अपने आस पड़ोस और सड़कों को साफ सुथरा रखें यदि आवश्यक हो तो ग्रामीण क्षेत्र में मुखिया का सहयोग प्राप्त करें एवं शहरी क्षेत्र में नगर पालिका अथवा नगर निगम की सहायता ली जाए। 
        बैश्यन्त्री ने कहा कि अभी एक चीज और दृष्टि में आई है की गर्भवती महिला एवं दूध पीते हुए बच्चों के लिए दूध की उपलब्धता कम हो रही है । खासकर देहाती क्षेत्रों में मेरा सुझाव होगा कि दूध का पाउडर का पैकेट भी ग्रामीण क्षेत्र में उपलब्ध कराया जाए और मुखिया के द्वारा अपने अपने वार्ड में गर्भवती महिला एवं दूध पीते बच्चे को पाउडर की दूध का पॉकेट आपूर्ति करें । इसके लिए भी सरकार अपने स्तर से दूध पाउडर का पाकिट उपलब्ध करावे ताकि गर्भवती महिला एवं दूध पीते बच्चे को समय पर दूध की आपूर्ति हो सके। अंत में मैं पुन: अपने लोगों से खासकर बिहार वासियों से अनुरोध करता हूं वे लॉक डाउन में सरकार के द्वारा दिए गए निर्देश का कड़ाई से पालन करें। घर के अंदर रहे और सुरक्षित रहें अनावश्यक रूप से सड़कों पर या गलियों में नहीं घूमे इस प्रकार हम कोरोना से बच सकते हैं और उन पर विजय प्राप्त कर सकते हैं। बैश्यन्त्री ने कहा कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के सभी पदाधिकारी एवं कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि वह सुरक्षित रहें एवं आस-पड़ोस के लोगों का भी ख्याल रखें और उन्हें भी लॉक डाउन के निर्देशों का पालन करने का अनुरोध करें।

Spread the love

MediaDarshan

Read Previous

महुआ नगर पंचायत के वार्ड-15 को लोगों ने किया सील

Read Next

लाकडाउन से गरीब, दिहाड़ी मजदूर एवं कामकाजी तबके भूखमरी के कागार पर प्रो: उमेश कुमार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *