लॉकडाउन के बाद देश में बढ़ेगी बेरोजगारी: नेशनल जेनरल सेक्रेटरी( आईसीसीआई)

Spread the love

नईदिल्ली। इंटीग्रेटेड चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के नेशनल जेनरल सेक्रेटरी संजय बी चोरड़िया ने कहा कि कोविड-19 को रोकने के लिए सरकार द्वारा किए गए 21 दिनों के लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर गहरा असर पड़ेगा। सरकार को इसके लिए रैपिड प्लान बनाने की जरूरत है।

संजय बी चोरड़िया ने कहा कि चालू तिमाही और पिछली तिमाही के दौरान अधिकांश कंपनियों की आय में दस फीसदी से अधिक कमी आयी है। इससे कंपनियों का लाभ दोनों तिमाहियों में पांच फिसदी से अधिक गिर सकता है। इससे रोजगार के स्तर पर 52 फीसदी तक नौकरियां कम हो सकती हैं।

आईसीसीआई के नेशनल जेनरल सेक्रेटरी ने कहा कि जो सर्वे किए गए हैं इससे साफ हो गया है कि 32 फीसदी कंपनियों में नौकरी जाने की दर 15 से 30 फीसदी होगी। जिसके लिए सरकार को अलग से पैकेज देने की जरूरत  होगी। सरकार ने आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण लगातार आर्थिक विशेषज्ञों से बात कर रही हैं निश्चिततौर पर सरकार सकारात्मक कदम उठाएँगी और एक पैकेज देकर मंदी के शिकार कंपनियों को राहत मिलेगी।


Spread the love

MediaDarshan

Read Previous

रोहतास: कोरोना वायरस से लड़ने के लिए सभी समुदाय के लोगों की एकजुटता की झलक

Read Next

प्रधानमंत्री और ऑस्ट्रेलिया राष्ट्रमंडल के प्रधानमंत्री के बीच फोन पर बातचीत की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *